October 21, 2020

Dil ki Shayari कितना करीब लाऊँ मैं

Dil ki Shayari – कितना करीब लाऊँ मैं

Dil ki Shayari

इस से ज़्यादा तुम्हे और कितना करीब लाऊँ मैं, 
कि तुम्हे दिल में रख कर भी मेरा दिल नहीं भरता ।

Iss se jaida tumhe aur kitna kareeb laaun main,
ki tumhe dil mein rakh kar bhi mera dil nahi bharta !

 

मुझे रिश्तो की लम्बी कतारों से क्या मतलब…
कोई दिल से हो मेरा तो एक शख्स ही काफी है ।

Mujhe rishto ki lambi kataro se kya matlab….
Koi dil se ho mera to ek shakhs hi kafi hain !

 

हज़ारों ने दिल हारे हैं तेरी सूरत देखकर,
कौन कहता है तस्वीरें जुआ नही खेलती !

Hajaro ne dil haare hai teri soorat dekhkar,
kaun kehta hai tasveere juaa nahi khelti !

 

रूकता भी नहीं ठीक से चलता भी नहीं,
यह दिल है कि तेरे बाद सँभलता ही नहीं !

Rukta bhi nahi theek se chalta bhi nahi,
yah dil hai ki tere baad sambhalta hi nahi !

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *