October 23, 2020

Dard bhari shayari in hindi – याद हैं मुझे आज भी

Dard bhari Shayari in Hindi – याद हैं मुझे आज भी उसके आखिरी अल्फ़ाज़

 

 

Dard Bhari Shayari in hindi

याद हैं मुझे आज भी उसके आखिरी अल्फ़ाज़…                                                                                                                                                                जी सको तो जी लेना … वरना मर जाओ … तो बेहतर है…

Yaad hain mujhe bhi uske aakhiri alfaaz…..                                                                                                                                                               jee sako toh jee lena… warna mar jao toh behtar hain….

 

चल हो गया फैसला कुछ कहना ही नहीं …                                                                                                                                                                           तू जी ले मेरे ‪बगैर‬ मुझे ‪जीना‬ ही नहीं..

Chal ho gaya faisla kuch kahana hi nahi….                                                                                                                                                                  tu jee mere bagair mujhe jeena hi nahi…….

 

शिकायत है उन्हें की हमें मोहब्बत करना नहीं आता..
शिकवा तो इस दिल को भी है पर इसे शिकायत करना नहीं आता..!!

Shikayat hain unhe ki hame mohabbat nahi aata…..                                                                                                                              Shikwa toh wo is dil ko bhi hain par ise shikayat karna nahi aata……….

 

खुदा ने पूछा क्या सजा दूँ उस बेफ़वा को,
दिल से आवाज़ आई, मोहब्बत हो जाये उसे भी !!

Khuda ne poochha kya saza doo us befawa ko,                                                                                                                                                          dil se aawaz aayi, mohabbat ho jaye use bhi…

 

हमको अब हसरत नहीं रही किसी को पाने की…
अब तो बस चाहत है मोहब्बत को भूल जाने की….

Humko ab hasrat nahi rahi kisi ko paane ki…                                                                                                                                                         ab th bas chahta hai mohabbat ko bhul jaane ki

 

खुद ही रोये और रो कर चुप हो गए,
ये सोचकर कि आज कोई अपना होता तो रोने ना देता।

Khud hi roye aur ro kar chup ho gaye,                                                                                                                                                                         ye sochkar ki aaj koi apna hota toh rone nahi deta….

 

Are you finding for a new job? visit this- www.jobwob.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *